18 नवंबर, 2008


24 टिप्‍पणियां:

  1. Wow!!! Its really very fantastis creative thinking.
    वक्त गुज़रता रहा पर सांसें थमी सी थी,
    मुस्कुरा रहे थे हम, पर आँखों में नमी सी थी,
    साथ हमारे ये जहाँ था सारा,
    पर न जाने क्यूँ कुछ कमी सी थी....

    www.meripatrika.co.cc

    उत्तर देंहटाएं
  2. " bhrm bn jayen hum tum, or yun mil jayen hum tum.............. very touching words, great.."

    Regards

    उत्तर देंहटाएं
  3. मैं मौन अनुगामिनी
    नाम तेरा मैं न जानूं
    तुम भी मुझको ना पहचानो,
    फिर भी हैं ये आहटें
    साथ चलता साया है
    maun se hi ek ajeeb rishta hota hai hai na,bahut hi khubsurat andaaz,badhai

    उत्तर देंहटाएं
  4. मौन हैं पर आपकी भावनाए बोलती हैं
    भेद दिल के ये चुप-छुप के खोलती हैं
    कुछ ना बोलकर भी सब कुछ कह दिया है
    और मैं को हम कर अपना मीत मौन को बना लिया है
    आपका शेतानू:) चरण स्पर्श :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. maun ki paribhasha jo aapne di hai..... wo kaafi hai.
    bahut hi sunder

    उत्तर देंहटाएं
  6. इसी मौन में बहुत शक्ति है ..भ्रम यही बना रहे तो रास्ता आसान हो जाता है ..बहुत दिनों बाद आपका लिखा पढना अच्छा लगा .बहुत मिस किया आपको ..

    उत्तर देंहटाएं
  7. मौन की भाषा दुनिया की सबसे सशक्त भाषा है। जो एक बार इसे समझ गया, उसके लिए दुनिया निस्ससार हो जाती है।

    उत्तर देंहटाएं
  8. मौन जब जीवन में उतर आता है ,उसके संग अन्तर्मन में जीना आरंभ हो जाता है.यह आनंद की स्थिति है.आपने मौन की अनुभूतियों को जिया है इसलिए कविता में जीवन्तता है.

    उत्तर देंहटाएं
  9. mon me mon ka mil jana sundar hai.!

    shayad hum sab mon hi ki santane hai..!

    jab koi nahi hota..tab wo hota hai.!

    jab dete hai sab sath chor..wo hota hai..!

    aur wo hota antim samay tak..jab koi humare sath nahi jata..!

    tab bhi wo jata hai antim vidai tak!

    उत्तर देंहटाएं
  10. कोई अकेला नहीं...कुछ नहीं तो मौन ही साथी है..बहुत अच्छी अभिव्यक्ति दीदी....!!

    उत्तर देंहटाएं
  11. bhram ban jaayein ham tum, aur yun mil jaayein ham tum..............
    Nicely worded beautiful thoughts and composition...... Rashmi ji mera pranaam sweekaar karein.. Meri post 'WHERE BATTLE IS WON BY QUITTING THE BATTLEFIELD' ko saraahane ke liye main aapakaa hrudaya se abhaari hoon.

    उत्तर देंहटाएं
  12. khamoshi: the musical....आपकी ये खामोशी भी बहुत अच्छी बाते बोल गयी,बहुत कुछ सिखा गयी,मेरी खामोशी आपकी खामोशी समझ गयी......जिसके पास 'मौन' ऐसा साथी हो,उसके पास असीम शक्ति है! मौन रहकर अजय बना जा सकता है!मौन तो उर्जा का स्रोत है!इसका अच्छा उदहारण telepathy है,अध्यातम भी तो मौन रहना ही सिखाता है!मौन रहकर तो ईश्वर को पाया जा सकता है !मगर आजकल मौन रहने का हौसला है किसमे......?
    'तू दुनिया को अपनी तारीफे सुनाता रहा,और आज इस दुनिया ने ही तुम्हे हराकर मुस्कुरा दिया
    मै 'मौन' के साथ रहते हुए जिंदगी गुजार दी,आज मैंने दुनिया जीत ली,आसमान छू लिया '
    बहुत ही खुबसूरत रचना माँ

    उत्तर देंहटाएं
  13. khamoshi ki bhasha agar na smajhe woh to sath hona kaisa???
    pyar mein khamoshi ko smajhna sabse jaruri hai...
    bhaut sunder ahsas itne din bada mile padne ko apke...

    dil khush ho gya..

    meien ek rachna likhi hai isi topic pe..ki pyar meinsabse jaruri hai khamoshi ko smajhna..'
    dikahungi jaldi hi apko...

    apko phir se skriy dekh khushi hui bahut..

    love u

    उत्तर देंहटाएं
  14. नमस्कार आप काफ़ी समय बाद आई,आप की कमी कल रही थी,
    आप की कविता हमेशा की तरह से अति सुंदर, बहुत कुछ कह रही है मोन रह कर.
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  15. क्या बात है...बेहतरीन रचना...
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  16. मौन अपने आप में एक दुर्लभ और सशक्त भाषा है, जिसकी मित्रता (सहजता) इन्सान को कण-कण में व्याप्त शक्ति श्रोतो को समझने की शक्ति प्रदान करती है | एक अच्छी रचना |

    उत्तर देंहटाएं
  17. मैं मौन अनुगामिनी
    नाम तेरा मैं न जानूं
    तुम भी मुझको ना पहचानो,
    फिर भी हैं ये आहटें
    साथ चलता साया है

    आपकी रचना बहुत प्यारी-सी लगी।

    उत्तर देंहटाएं
  18. मौन की व्याख्या व महत्त्व भी /सही है अपने आराध्य से भी मौन भाषा में ही बात हो सकती है मौन एक भाषा भी है बैसे भी भाषा उच्च कोटि के लोग निर्मित करते हैं /प्रेम जब गहराता है तब शब्द व्यर्थ हो जाते हैं /मौन भक्ति का प्रथम चरण है /मौन अर्थ पूर्ण है /शब्दहीन भाषा बहुत कुछ कह जाती है /महाबीर की मौन भाषा ने बहुत कुछ कहा /मौन जहाँ एक ओर ""मौनं स्वीकृति लक्षणं है वही मौनं मूर्खस्य बलम भी है /मौन में ही व्यक्ति अंतरतम की गहराई में जा सकता है /

    उत्तर देंहटाएं
  19. maun hum bahut pyaari rachna hai.
    kshitiz tak milane ke bhram men bhram hi bann jaayen hum tum. bahut badhiya.
    badhai

    उत्तर देंहटाएं
  20. Di! russian main ek kahavat hai "silence is gold".kuch esa hi sona hai aapki ye kavita.

    उत्तर देंहटाएं

रामायण है इतनी

रूठते हुए  वचन माँगते हुए  कैकेई ने सोचा ही नहीं  कि सपनों की तदबीर का रुख बदल जायेगा  दशरथ की मृत्यु होगी  भरत महल छोड़  स...