13 अगस्त, 2009

कृष्ण जन्म


सूरदास ले बाल-रूप
यशोदा लेकर माखन
अतृप्त ममता का प्यार लिए देवकी
गागर भरकर गोपियाँ
प्रेम रंग में डूबे उधो
गर्व लिए वासुदेव और नन्द
प्रतीक्षित मंद मुस्कान संग राधा
जोगन बनकर मीरा
सब हैं मगन रंग
जन्म लीला करने को आए
कृष्ण बांसुरी संग
बांसुरी की धुन में गाओ सब मिलकर
जनम लियो कृष्ण अवतार लेकर
होगा चमत्कार
आयेंगे इन्द्र मेघ समूह लेकर
यमुना फिर झूमेगी
धरती भी झूमेगी
किसान झूम-झूम गायेंगे
खेत लहलहाएंगे
आए कृष्ण घुटने पर
बादलों का राग लिए
विद्युत - सी शोभा लिए
मुसलाधार बारिश लिए -- -

25 टिप्‍पणियां:

  1. चलो झूमे सब संग संग,
    मगन हो कर संग संग...
    कृष्ण जन्म की बहूत बधाई....ILu....!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर रचना जन्म अष्ट्मी की बहुत बहुत बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  3. behad khubsurat,kanha ke janamdin ke parv par sabhi taraf khushiyaan bikharti khubsurat kavita,bahut badhai.

    उत्तर देंहटाएं
  4. अच्छी रचना
    कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामना और ढेरो बधाई .

    उत्तर देंहटाएं
  5. जन्माष्टमी पर बहुत बधाई...!!
    अच्छी कविता ..!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. मुसलाधार बारिश लिए ...सच हो ...!!
    अच्छी रचना ...कृष्ण जन्माष्टमी और स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  7. कृष्ण जन्माष्टमी पर इससे बेहतर रचना और क्या हो सकती है......

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर रचना....

    बधाई आपको रश्मि जी....

    सुन के गोपी दोङी आयीं,
    मात यशोमति खिलखिलायीं
    फिर से बाजे बंसी कान्हा ।


    जय कृष्णा।
    जय कृष्णा ।

    उत्तर देंहटाएं
  9. krashnmay sansar .
    jsoda jayo lalna mai vedan me sun aai .
    kanhaiya jhule palna mai vedan me sun aai .
    bdhai ho ................

    उत्तर देंहटाएं
  10. आपके मन के sundar bhavon ने mugdh और krashn नाम ras में nimagn कर दिया.....
    nanhe gopaal के janmotsav की dheron बधाइयाँ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. AAJ KE IS PAWAN PARV PE AAPKI YE KHUBSURAT RACHANAA ISAKI AUR BHI PAWANATA BADHAA RAHI HAI BEHAD KHUBSURATI SE KAHAA HAI AAPNE.. BAHOT BAHOT BADHAAYEE RACHANAA KE SAATH SAATH JANMAASHTAMI KI BHI



    ARSH

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत सुन्दर कुछ उम्मीद तो जगी बारिश की .अच्छा लिखा है आपने ..कृष्ण जन्माष्टमी और स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें.............

    उत्तर देंहटाएं
  13. bahut hi khubsoorat shabd our shaili me dhala hai aapane ......badhaaee

    उत्तर देंहटाएं
  14. bahut hi khubsoorat shabd our shaili me dhala hai aapane ......badhaaee

    उत्तर देंहटाएं
  15. वाह रश्मि जी ,झमाझम वारिश में कृष्ण की छवि और उनके उदात्त रूप के आगमन का भरोसा, दौनों ने ही निहाल कर दिया हमें तो !

    उत्तर देंहटाएं
  16. आपकी कविता में की गई अभिलाषा, लगता है चरितार्थ हो ही गई.
    मथुरा में जन्माष्टमी पर जहाँ मूसलाधार बारिस का जिक्र टी.वी. पर मिला, वहीँ कल ब्रह्ममुहूर्त में प्रारंभ हुई कभी तेज और कभी रिमझिम बारिश ने पूरे दिन जयपुर को अपने आगोश में ले रखा. समाचार पत्र से ज्ञात हुआ कि यह बारिस तो पूरे राजस्थान में हुई है..............
    हम कृतज्ञ हैं आपकी भावनाओं के और कविता के, जिसने इस सूखे के दौर में राहत की एक फुहार तो नसीब कराई.....

    हार्दिक आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  17. कृष्ण जन्माष्टमी और स्वाधीनता दिवस की हार्दिक शुभकामना और ढेरो बधाई.
    कविता की चित्रात्मकता बहुत अच्छी है जिसके कारण बहुत प्रभावोत्पादक है.
    एक बात बताइए जो ऊपर चित्र आपने लगाया है वह क्या संगम(इलाहाबाद) का है?

    उत्तर देंहटाएं
  18. janmashtami ki shubhkaamnayen....aapki rachna ne khoobsurat chitr prastut kiya hai....bahut sundar

    उत्तर देंहटाएं
  19. बहुत ख़ूबसूरत और भावपूर्ण रचना! जन्माष्टमी और स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहुत ख़ूबसूरत और भावपूर्ण रचना!

    उत्तर देंहटाएं

शाश्वत कटु सत्य ... !!!

जब कहीं कोई हादसा होता है किसी को कोई दुख होता है परिचित अपरिचित कोई भी हो जब मेरे मुँह से ओह निकलता है या रह जाती है कोई स्तब्ध...