09 जुलाई, 2010

रामायण तुम्हें सुनाते हैं

http://www.youtube.com/watch?v=myx8Lb5NAes

3 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति..... मनमोह लिया.....आभार

    उत्तर देंहटाएं
  2. Hmm, hmm... soch me hun, kaise kuchh kahun.

    gyaan fir se, jor se pradipt hua...
    pranam

    उत्तर देंहटाएं
  3. पहले सुना था । पुनः सुनकर आनन्द आ गया ।

    उत्तर देंहटाएं

ये तो मैं ही हूँ !!!

आज मैं उस मकान के आगे हूँ जहाँ जाने की मनाही थी सबने कहा था - मत जाना उधर कमरे के आस पास कभी तुतलाने की आवाज़ आती है कभी कोई पु...